रूसी विदेश मंत्री ने माली में भाड़े के सैनिकों की मौजूदगी का बचाव किया

रूसी विदेश मंत्री ने माली में भाड़े के सैनिकों की मौजूदगी का बचाव किया

Edited By: , September 26, 2021 / 11:09 AM IST

संयुक्त राष्ट्र, 26 सितंबर (एपी) रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने आतंकवादियों से लड़ने में मदद के लिए एक निजी रूसी सैन्य कंपनी की सेवाएं लेने के माली सरकार के अधिकार का शनिवार को बचाव किया, आतंकवादियों से निपटने में नाकाम रहने पर देश में मौजूद फ्रांसीसी बलों की निंदा की और भाड़े के रूसी सैनिकों को वहां से बाहर जाने के लिए कहने के लिए यूरोपीय संघ से नाराजगी जताई।

लावरोव ने कहा कि रूसी कंपनी को माली सरकार ने आमंत्रित किया है, इसलिए उसे पश्चिमी अफ्रीकी देश में मौजूद होने का ‘‘वैध’’ अधिकार है। उन्होंने जोर दिया कि इस मामले में रूस सरकार संलिप्त नहीं है।

फ्रांस और जर्मनी दोनों ने माली में वागनेर ग्रुप के भाड़े के सैनिकों की मौजूदगी पर आपत्ति जताई है। ऐसा बताया जा रहा है कि इस वागनेर ग्रुप का संबंध क्रेमलिन से है। माली में संयुक्त राष्ट्र शांतिरक्षा मिशन में 18,000 से अधिक सैन्य कर्मी सेवाएं दे रहे हैं। वागनेर पर मध्य अफ्रीकी गणराज्य में मानवाधिकार हनन और लीबिया में संघर्ष में संलिप्तता का आरोप है।

लावरोव ने कहा कि फ्रांस ने घोषणा की है कि वह माली और क्षेत्र में आतंकवादियों से लड़ रहे बलों की संख्या कम कर रहा है। उन्होंने फ्रांस की आलोचना करते हुए कहा कि फ्रांसीसी सेना को ‘‘उन आतंकवादियों का मुकाबला करना चाहिए था जो किदल (उत्तरी माली में) में मौजूद हैं, लेकिन वे ऐसा करने में कामयाब नहीं हुए।’’

उन्होंने संयुक्त राष्ट्र महासभा में विश्व के नेताओं की वार्षिक बैठक के इतर संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘आतंकवादी अब भी इस इलाके में सक्रिय हैं।’’

माली 2012 से इस्लामी आतंकवादियों से निपटने की कोशिश कर रहा है। माली के उत्तरी शहरों से 2013 में फ्रांस के नेतृत्व वाले सैन्य अभियान की मदद से अतिवादी विद्रोहियों को सत्ता से बाहर कर दिया गया था, लेकिन उन्होंने स्वयं को पुन: मजबूत किया और माली की सेना और उसके सहयोगियों पर हमले आरंभ कर दिए।

लावरोव ने कहा कि यूरोपीय संघ ने घोषणा की है कि रूस को ‘‘दूर धकेल दिया जाएगा, रोका जाएगा और उनसे संवाद किया जाएगा’’। उन्होंने कहा कि उन्होंने संयुक्त राष्ट्र महासभा की उच्चस्तीय बैठक के इतर एक बैठक में ईयू विदेश नीति प्रमुख जोसेप बोरेल से कहा, ‘‘आप हमसे क्या बात करेंगे?’’

एपी सिम्मी मानसी

मानसी