लंदन में पूर्वोत्तर भारत पर केंद्रित दो फिल्मों को मिले टीवीई ‘‘ग्लोबल सस्टेनैबिलिटी’’ पुरस्कार |

लंदन में पूर्वोत्तर भारत पर केंद्रित दो फिल्मों को मिले टीवीई ‘‘ग्लोबल सस्टेनैबिलिटी’’ पुरस्कार

लंदन में पूर्वोत्तर भारत पर केंद्रित दो फिल्मों को मिले टीवीई ‘‘ग्लोबल सस्टेनैबिलिटी’’ पुरस्कार

: , December 1, 2022 / 06:15 PM IST

लंदन, एक दिसंबर (भाषा) पूर्वोत्तर भारत पर आधारित दो फिल्मों ने यहां 2022 के लिए टीवीई ‘‘ग्लोबल सस्टेनैबिलिटी फिल्म पुरस्कार’’ (जीएसएफए) समारोह में पुरस्कार जीते हैं।

पूर्वोत्तर भारत की इन दोनों फिल्मों में से एक फिल्म गैंडों के संरक्षण पर केंद्रित है जबकि दूसरी फिल्म दुनिया में सबसे अधिक वर्षा वाले स्थानों में से एक, चेरापूंजी में जल के अभाव पर आधारित है।

टीवीई जीएसएफए पुरस्कार कारोबार, गैर लाभकारी, मीडिया एवं रचनात्मक क्षेत्रों की उन उत्कृष्ट फिल्मों को एक पहचान प्रदान करता है जो अधिक संपोषणीय भविष्य के लिए असल समाधान के साथ दर्शकों को प्रेरित करती हैं।

असम से वाइस मीडिया की फिल्म ‘बैड ब्लड’ को ‘ग्रीनर लिविंग शॉर्ट फिल्म पुरस्कार श्रेणी’ में अवार्ड मिला है जबकि ग्रीन हब की ‘वाटर फॉर लाईफ’ को विशेष टीवीई ‘ट्रस्टी च्वायस पुरस्कार’ मिला है। पहली फिल्म में गैंडों के एक शिकारी के पछतावे को दर्शाया गया है।

अन्य जिन फिल्मों को पुरस्कार मिला है उनमें परिवर्तनकारी समाज श्रेणी में ‘‘रोड टू फुलफिलमेंट’’ (संयुक्त अरब अमीरात), वृतचित्र प्रभाव श्रेणी में ‘‘ ईटिंग अवर वे टू एक्सटिंक्शन’’ (ब्रिटेन), युवा फिल्मकार श्रेणी में ‘‘ चेजिंग पैराडाइम्स’’ (हेनरी स्मिथ, आस्ट्रेलिया), संपोषणीय जीवन के लिए डिजिटल प्रौद्योगिकी एवं कृत्रिम मेधा श्रेणी में ‘‘ एज ऑफ चेंज : सर्कुलर’’ (ब्रिटेन) शामिल हैं।

पुरस्कार समारोह मंगलवार रात को यहां मर्चेंट टेलर्स हॉल में हुआ ।

भाषा

राजकुमार मनीषा

मनीषा

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)