दिल्ली के मुख्यमंत्री कोलंबे समय तक सलाखों के पीछे नहीं रख सकते: सुनीता केजरीवाल |

दिल्ली के मुख्यमंत्री कोलंबे समय तक सलाखों के पीछे नहीं रख सकते: सुनीता केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री कोलंबे समय तक सलाखों के पीछे नहीं रख सकते: सुनीता केजरीवाल

:   Modified Date:  March 31, 2024 / 11:19 PM IST, Published Date : March 31, 2024/11:19 pm IST

(तस्वीर के साथ)

नयी दिल्ली, 31 मार्च (भाषा) दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल ने रविवार को यहां ‘इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इन्क्लूसिव अलायंस’ (इंडिया) गठबंधन की ‘लोकतंत्र बचाओ’ रैली में अपने पति को ‘‘शेर’’ करार दिया जो लंबे समय तक सलाखों के पीछे नहीं रहेगा। केजरीवाल की पत्नी ने साथ ही ‘इंडिया’ गुट की ओर से देश के लिए केजरीवाल की छह ‘गारंटियों’ की घोषणा की।

सुनीता केजरीवाल ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की हिरासत से जारी अपने पति के संदेश को पढ़ा साथ ही छह गारंटी की घोषणा की, जिसमें दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाना भी शामिल है।

सुनीता ने किसी राजनीतिक रैली में अपने पहले भाषण में, लोगों से यह भी सवाल किया कि क्या केजरीवाल को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।

उन्होंने कहा, ‘भाजपा (भारतीय जनता पार्टी) मुख्यमंत्री केजरीवाल के इस्तीफे की मांग कर रही है। क्या उन्हें इस्तीफा देना चाहिए। क्या उनकी गिरफ्तारी उचित है। वह एक शेर हैं। वे उन्हें लंबे समय तक सलाखों के पीछे नहीं रख पाएंगे।’

सुनीता ने उनके पति को आशीर्वाद देने के लिए लोगों को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा, ‘यह अत्याचार नहीं चलेगा। मेरे पति को बहुत आशीर्वाद मिल रहा है।’

केजरीवाल को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 21 मार्च को दिल्ली की अब समाप्त हो चुकी आबकारी नीति से जुड़े धनशोधन मामले में गिरफ्तार किया था। वह एक अप्रैल तक ईडी की हिरासत में हैं।

रामलीला मैदान में ‘इंडिया’ गठबंधन की ‘लोकतंत्र बचाओ’ रैली को संबोधित करते हुए सुनीता केजरीवाल ने अपने भाषण की शुरुआत रैली में मौजूद लोगों से यह सवाल करके की कि क्या दिल्ली के मुख्यमंत्री की गिरफ्तारी सही थी।

उन्होंने कहा, ‘‘हमारे प्रधानमंत्री मोदी जी ने मेरे पति को जेल में डाल दिया। क्या प्रधानमंत्री ने सही काम किया? क्या आप सभी मानते हैं कि केजरीवाल जी एक सच्चे देशभक्त और ईमानदार व्यक्ति हैं? ये भाजपा वाले कह रहे हैं कि अरविंद केजरीवाल जेल में हैं, उन्हें इस्तीफा दे देना चाहिए। क्या अरविंद केजरीवाल जी को इस्तीफा दे देना चाहिए?’’

सुनीता केजरीवाल ने दावा किया कि उनके पति मातृभूमि के लिए लड़ रहे हैं और उनकी तुलना उन स्वतंत्रता सेनानियों से की, जिन्होंने देश की आजादी के लिए लड़ाई लड़ी थी।

सुनीता केजरीवाल ने कहा, ‘‘उन्होंने केजरीवाल जी को गिरफ्तार कर लिया। आपका अरविंद केजरीवाल शेर है, उन्हें ज्यादा दिन जेल में नहीं रख पाएंगे। वह जिस बहादुरी और साहस के साथ देश के लिए लड़ रहे हैं, उसके कारण वह करोड़ों लोगों के दिलों में रहते हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘कई बार मुझे लगता है कि वह आजादी की लड़ाई में एक स्वतंत्रता सेनानी थे, जो देश के लिए लड़ते हुए शहीद हो गए। इस जन्म में भी शायद केजरीवाल जी को भारत माता के लिए लड़ने के लिए भेजा गया है।’

अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी के बाद, सुनीता केजरीवाल डिजिटल मीडिया ब्रीफिंग कर रही हैं, ईडी की हिरासत से लोगों को उनका संदेश दे रही हैं, लेकिन रविवार को उन्होंने मंच से अपना पहला राजनीतिक भाषण दिया।

ईडी की हिरासत से अरविंद केजरीवाल का पत्र पढ़ते हुए उन्होंने कहा, ‘मैं आज आपसे वोट नहीं मांग रहा हूं, मैं आपसे आने वाले चुनावों में किसी को हराने या जिताने के लिए भी नहीं कह रहा हूं। आज मैं देश को एक बड़े भारत का निर्माण करने के लिए 140 करोड़ लोगों का सहयोग चाहता हूं। मैं 140 करोड़ भारतीयों को एक नए भारत के निर्माण के लिए आमंत्रित करता हूं।’

उन्होंने अरविंद केजरीवाल के पत्र का हवाला देते हुए कहा, ‘‘अगर आप इंडिया गठबंधन को मौका देते हैं और उन्हें जिम्मेदारी देते हैं, तो हम मिलकर एक महान राष्ट्र का निर्माण करेंगे।’’

उन्होंने कहा, ‘इंडिया गठबंधन सिर्फ एक नाम नहीं, यह हमारे दिलों में एक भावना है। आज, पूरे ‘इंडिया’ गठबंधन की ओर से, मैं भारत के 140 करोड़ लोगों को ये छह गारंटी देता हूं।’

उन्होंने कहा, ‘‘सबसे पहले, हम यह सुनिश्चित करेंगे कि देश को 24 घंटे बिजली आपूर्ति मिले, कोई बिजली कटौती नहीं होगी। दूसरा, हम समाज के गरीब वर्ग के लिए बिजली बिल्कुल मुफ्त कर देंगे। तीसरा, हम हर गांव और इलाके में शानदार सरकारी स्कूल बनाएंगे। अब हर बच्चे को, चाहे वह अमीर हो या गरीब, समान गुणवत्ता वाली शिक्षा मिलेगी।”

चौथी गारंटी हर गांव और मोहल्ले में मोहल्ला क्लीनिक बनाने का वादा था।

उन्होंने कहा, ‘‘हर जिले में मल्टी-स्पेशियलिटी सरकारी अस्पताल होंगे। हम देश के प्रत्येक नागरिक के लिए उच्च गुणवत्ता वाले मुफ्त इलाज की उचित व्यवस्था करेंगे। किसानों को स्वामीनाथन (आयोग) रिपोर्ट के अनुसार सभी फसलों पर उचित एमएसपी (न्यूनतम समर्थन मूल्य) दिया जाएगा। यह सुनिश्चित करेंगे कि किसानों को उनकी फसल का सही दाम मिले।’’

सुनीता केजरीवाल ने अपने पति अरविंद केजरीवाल के संदेश का हवाला देते हुए कहा, ‘आज, मैं ‘इंडिया’ गठबंधन के साझेदारों से माफी मांगता हूं क्योंकि मैंने ये घोषणाएं करने के लिए उनकी अनुमति नहीं ली।’

उन्होंने कहा, ‘‘दिल्ली के लोगों ने पिछले 75 वर्षों से अन्याय का सामना किया है। उनकी सरकार पंगू थी। यदि ‘इंडिया’ गठबंधन सत्ता में आता है तो हम दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाएंगे। यहां के लोगों को अन्य राज्यों की तुलना में कम अधिकार प्राप्त हैं। उनकी चुनी हुई सरकार पंगु है। हम इस अन्याय को ख़त्म करेंगे, दिल्लीवासियों को उनका अधिकार मिलेगा। हम यह सुनिश्चित करेंगे कि दिल्ली को राज्य का दर्जा मिले।’’

उन्होंने कहा, ‘‘भारत माता पीड़ा में हैं। उन्हें तब दुख होता है जब लोगों को निर्बाध बिजली नहीं मिलती है या जब किसी की उपचार के अभाव में मृत्यु हो जाती है।’’

वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में भी, अरविंद केजरीवाल ने वादा किया था कि यदि उनकी पार्टी दिल्ली में लोकसभा की सभी सात सीट जीत जाती तो राष्ट्रीय राजधानी को पूर्ण राज्य का दर्जा दिया जाएगा।

लोकसभा चुनाव से पहले ‘इंडिया’ गठबंधन के नेता केजरीवाल की गिरफ्तारी की पृष्ठभूमि में विपक्षी एकता का प्रदर्शन करते हुए यहां रामलीला मैदान में ‘लोकतंत्र बचाओ’ रैली में एकसाथ आए।

इस दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाद्रा, राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के तेजस्वी यादव, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (शरदचंद्र पवार) के नेता शरद पवार, शिवसेना (यूबीटी) प्रमुख उद्धव ठाकरे, समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) महासचिव सीताराम येचुरी, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) महासचिव डी. राजा, पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) प्रमुख महबूबा मुफ्ती, नेशनल कान्फ्रेंस के फारूक अब्दुल्ला और झारखंड के मुख्यमंत्री चंपई सोरेन उपस्थित थे।

भाषा अमित शोभना

शोभना

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers