‘इंडिया’ गठबंधन को मिलेगा स्पष्ट बहुमत : रमेश |

‘इंडिया’ गठबंधन को मिलेगा स्पष्ट बहुमत : रमेश

‘इंडिया’ गठबंधन को मिलेगा स्पष्ट बहुमत : रमेश

:   Modified Date:  May 24, 2024 / 05:45 PM IST, Published Date : May 24, 2024/5:45 pm IST

चंडीगढ़, 24 मई (भाषा) कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने भारतीय जनता पार्टी की ‘‘पांच साल में पांच प्रधानमंत्री’’ को लेकर पलटवार करते हुए शुक्रवार को कहा कि इस लोकसभा चुनाव में ‘इंडिया’ गठबंधन को स्पष्ट बहुमत मिलेगा और नतीजों के तीन दिनों के भीतर प्रधानमंत्री के नाम की घोषणा कर दी जाएगी।

उन्होंने यह भी कहा कि इस गठबंधन की तरफ से जो भी प्रधानमंत्री बनेगा, पूरे पांच साल तक रहेगा।

लोकसभा चुनाव सात चरणों में हो रहे हैं और आखिरी चरण का मतदान एक जून को है। मतगणना चार जून को होगी।

रमेश ने यहां संवाददाताओं से कहा कि चार जून को चुनाव परिणाम आने के तीन दिनों के भीतर ‘इंडिया’ गठबंधन द्वारा प्रधानमंत्री के नाम की घोषणा की जाएगी।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपनी चुनावी सभाओं में कई बार विपक्षी ‘इंडिया’ गठबंधन पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर ये लोग सत्ता में आए, तो इनकी पांच साल में पांच प्रधानमंत्री बनाने की योजना है।

रमेश ने कहा कि इंडिया गठबंधन को ‘‘स्पष्ट और निर्णायक जनादेश’ मिलने जा रहा है और 2004 की तरह 20 साल बाद इतिहास खुद को दोहराएगा।

उन्होंने कहा, ‘‘जो लोग बार-बार यह सवाल उठाते हैं कि प्रधानमंत्री कौन होगा, तो मैं उन्हें याद दिलाना चाहता हूं कि 2004 में कांग्रेस और उसके सहयोगियों को जनादेश मिलने के तीन दिन के भीतर ही प्रधानमंत्री पद के लिए डॉ. मनमोहन सिंह के नाम की घोषणा कर दी गई थी।’’

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘इस बार तीन दिन भी नहीं लगेंगे और एक व्यक्ति सरकार चलाने के लिए पांच साल तक प्रधानमंत्री रहेगा।’’

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार का चयन ‘इंडिया’ गठबंधन के सदस्यों द्वारा निर्णायक ढंग से किया जाएगा।

रमेश ने कहा, ‘‘हमारे देश में चुनाव कोई सौंदर्य प्रतियोगिता नहीं है। हमारे देश में चुनाव पार्टियों के बीच होता है, हमारा लोकतंत्र पार्टी-केंद्रित है, व्यक्ति-केंद्रित नहीं है।’’

उन्होंने दावा किया, ‘‘ देश में पहले दो चरणों के चुनाव के बाद स्पष्ट था कि भाजपा दक्षिण भारत साफ और उत्तर भारत में ‘हाफ’ है। फिर जिस तरह प्रधानमंत्री मोदी की भाषा में बदलाव आया, उससे स्पष्ट हो गया कि ‘इंडिया’ गठबंधन को स्पष्ट और निर्णायक जनादेश मिलना तय है।

रमेश ने आरोप लगाया कि 19 अप्रैल से प्रधानमंत्री मोदी का पूरा प्रचार अभियान हिंदू-मुस्लिम बयानबाजी के साथ ‘‘सांप्रदायीकरण’’ पर आधारित रहा है।

उन्होंने कहा, ‘‘विकसित भारत, मोदी की गारंटी या किसानों, युवाओं, महिलाओं, श्रमिकों, एससी, एसटी और ओबीसी के मुद्दों पर कोई बात नहीं हुई।’’

रमेश ने कहा कि प्रधानमंत्री ने कांग्रेस के घोषणापत्र में ‘मुस्लिम लीग की छाप’ होने और धर्म के आधार पर आरक्षण देने जैसे फर्जी आरोप लगाए हैं।

भाषा हक हक दिलीप

दिलीप

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers