सिप्पी सिद्धू हत्या मामला: उच्चतम न्यायालय की पीठ ने आरोपी की याचिका पर सुनवाई से खुद को अलग किया |

सिप्पी सिद्धू हत्या मामला: उच्चतम न्यायालय की पीठ ने आरोपी की याचिका पर सुनवाई से खुद को अलग किया

सिप्पी सिद्धू हत्या मामला: उच्चतम न्यायालय की पीठ ने आरोपी की याचिका पर सुनवाई से खुद को अलग किया

:   Modified Date:  May 21, 2024 / 09:42 PM IST, Published Date : May 21, 2024/9:42 pm IST

नयी दिल्ली, 21 मई (भाषा) उच्चतम न्यायालय के दो न्यायाधीशों की पीठ ने मंगलवार को वर्ष 2015 में चंडीगढ़ में राष्ट्रीय स्तर के शूटर सुखमनप्रीत सिंह उर्फ ​​सिप्पी सिद्धू की हत्या से जुड़े मामले में आरोपी की याचिका पर सुनावाई से खुद को अलग कर लिया। आरोपी उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश की बेटी है।

न्यायमूर्ति दीपांकर दत्ता और न्यायमूर्ति सतीश चंद्र शर्मा की अवकाशकालीन पीठ ने कहा कि वे इस मामले को सुनने के इच्छुक नहीं हैं क्योंकि इसमें एक पूर्व न्यायाधीश की बेटी शामिल है।

उन्होंने कहा, ‘‘इस मामले को उस पीठ के समक्ष सूचीबद्ध किया जाए जिसके हम दोनों सदस्य नहीं हैं।’’ उन्होंने कहा कि मामले को अगले सप्ताह किसी अन्य अवकाशकालीन पीठ के समक्ष सूचीबद्ध किया जाए।

याचिकाकर्ता कल्याणी सिंह की ओर से पेश वरिष्ठ वकील सिद्धार्थ दवे ने कहा कि उन्होंने पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय के 25 अप्रैल के आदेश को चुनौती देते हुए शीर्ष अदालत का दरवाजा खटखटाया है। उच्च न्यायालय ने चंडीगढ़ पुलिस द्वारा दर्ज किए गए गवाहों के बयानों को उपलब्ध कराए जाने की उनकी याचिका खारिज कर दी थी।

उन्होंने कहा कि शुरुआत में मामले की जांच चंडीगढ़ पुलिस ने की थी, लेकिन बाद में इसे केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) को स्थानांतरित कर दिया गया। सीबीआई ने इस मामले में आरोप पत्र दायर किया और अब आरोप तय किए हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘हम गवाहों के बयान चाहते हैं, जो शुरुआत में चंडीगढ़ पुलिस द्वारा दर्ज किए गए थे, ताकि हम मुकदमे की सुनवाई के दौरान उनसे जिरह कर सकें।’’

सीबीआई ने 15 जून, 2022 को ‘वृत्तचित्र सामग्री’ बरामद होने का दावा करने के बाद कल्याणी सिंह को गिरफ्तार कर लिया। सीबीआई ने दावा किया कि ‘वृत्तचित्र सामग्री’ से पता चलता है कि सिद्धू के साथ कल्याणी सिंह के संबंध खराब हो गए थे।

पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश के पोते और एक प्रसिद्ध वकील के बेटे सिद्धू की 20 सितंबर, 2015 को गोली मारकर हत्या कर दी गई थी और अगली सुबह उनका गोलियों से छलनी शव चंडीगढ़ के सेक्टर 27 में मिला था।

भाषा संतोष माधव

माधव

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers