गडकरी फड़णवीस को सबक सिखाना चाहते थे : कांग्रेस नेता, केंद्रीय मंत्री ने किया खंडन

गडकरी फड़णवीस को सबक सिखाना चाहते थे : कांग्रेस नेता, केंद्रीय मंत्री ने किया खंडन

Edited By: , October 21, 2021 / 09:09 PM IST

नांदेड़ (महाराष्ट्र), 21 अक्टूबर (भाषा) महाराष्ट्र के मंत्री विजय वाडेत्तिवार ने बृहस्पतिवार को दावा किया कि वरिष्ठ भाजपा नितिन गडकरी अपनी पार्टी के सहयोगी देवेंद्र फड़णवीस को ‘सबक सिखाना’ चाहते थे।

कांग्रेस नेता ने संकेतों में कहा कि गडकरी फड़णवीस के बारे में बोल रहे थे जबकि गडकरी ने स्वयं इस बात से इनकार किया है कि उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री के विरूद्ध कभी कुछ कहा।

वाडेत्तिवार मध्य महाराष्ट्र के नांदेड़ जिले में डेगलुरू विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार अनंतपुरकार के पक्ष में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने रैली में कहा, ‘‘ नांदेड़ में सड़कें अब बेहतर होंगी क्योंकि लोक निर्माण विभाग मंत्री (अशोक चव्हाण) नांदेड़ से हैं। कुछ दिन पहले सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के साथ बैठक हुई थी और वह राज्य में परियोजनाओं के वास्ते धनराशि देने पर सहमत हुए थे। ’’

उन्होंने कहा कि नागपुर के लोग जानते हैं कि उस शहर से दो बड़े ‘ चेहरे’ (नेता) हैं — गडकरी एवं फड़णवीस लेकिन दोनों में नहीं बनती है।

वाडेत्तिवार ने कहा, ‘‘ गडकरी ने (बैठक के दौरान) कान में कहा कि वह उन्हें सबक सीखाना चाहते थे । और उन्होंने सबक सिखायी। ’’

हालांकि कांग्रेस नेता ने यह नहीं बताया कि इस बातचीत के दौरान ‘उन्हें’ किसके लिए इस्तेमाल किया गया था।

लेकिन नागपुर में अपने निजी सचिव के माध्यम से जारी एक बयान में गडकरी ने कहा, ‘‘ मैंने विजय वाडेत्तिवार को कुछ भी गुप-चुप तरीके से नहीं कहा था। उन्हें ऐसे गैर जिम्मेदाराना, झूठा एवं बेबुनियाद बयान नहीं देना चाहिए एवं शरारतपूर्ण राजनीति नहीं करनी चाहिए। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘ देवेंद्र फड़णवीस मेरे छोटे भाई की भांति हैं । इसके अलावा वह मेरी पार्टी के महत्वपूर्ण नेता हैं । एक दूसरे के बारे में बुरा कहना कांग्रेस की संस्कृति है।’’

भाजपा नेता ने कहा कि महाराष्ट्र ने फड़णवीस के मुख्यमंत्रित्व काल में तरक्की की और वह अब विधानसभा में विपक्ष के नेता के तौर पर शानदार काम कर रहे हैं।

भाषा राजकुमार उमा

उमा