खुद को जिंदा साबित करने 6़ साल से प्रशासन से लड़ता रहा 80 साल का बुजुर्ग, थम गई सांसे, लेकिन नहीं मिला न्याय

Reported By: Rajkumar Sahu, Edited By: Deepak Dilliwar

Published on 12 Aug 2019 11:47 PM, Updated On 12 Aug 2019 11:47 PM

जांजगीर: जिले के बनारी गांव के 80 वर्षीय एक बुजुर्ग को आखिरकार न्याय नहीं मिला और उन्हें इस दुनिया से रुखसत होना पड़ा। बुजुर्ग दामोदर शर्मा पिछले 6 साल से खुद को जीवित साबित करने दफ्तर का चक्कर काटता रहा। दर्जनों दरख्वास्त दी, लेकिन खुद को जिंदा साबित नहीं कर पाए और आखिरकार उनका देहांत हो गया।

Read More: दिल्ली एयरपोर्ट पर बम की सूचना, सुरक्षा एजेंसियों ने स्वतंत्रता दिवस पर आतं​की हमले को लेकर किया था अलर्ट

दरअसल, बनारी गांव के बुजुर्ग दामोदर शर्मा को बलौदा क्षेत्र के भिलाई की पारिवारिक संपत्ति से वंचित करने के लिए, परिवार के दूसरे व्यक्ति ने फौती कटवा कर बुजुर्ग दामोदर शर्मा को मृत बता दिया और दस्तावेज में हेरफेर कर परिवार के दूसरे व्यक्ति नर संपत्ति अपने नाम पर कर ली। इसके बाद बुजुर्ग दामोदर शर्मा, खुद को जिंदा साबित करने दफ्तरों का 6 साल से चक्कर काटता रहा, लेकिन न्याय नहीं मिला और वे खुद को जीवित साबित किए ही इस दुनिया से रुखसत ही गए।

Read More: नाबालिग सहित 4 लोगों ने बंधक बनाकर 7वीं और 9वीं की छात्रा से किया गैंगरेप, इलाके में सनसनी

इस तरह प्रशासन की लाल-फीताशाही की भी पोल खुल गई है। एक बुजुर्ग न्याय के लिए भटकता रहा, लेकिन प्रशासन के अफसरों ने कोई सुध नहीं ली, केवल आवेदन बटोरने की औचारिकता ही निभाई। नतीजा, एक बुजुर्ग को बिना न्याय के इस दुनिया से जाना पड़ा।

Read More: जल संसाधन विभाग में बंपर ट्रांसफर, 12 अधिकारियों का तबादला आदेश जारी

Web Title : 80 year old man died, which had been declared dead by administration

जरूर देखिये