दो अलग घटनाओं में पुलिसकर्मियों स​हित 11 लोगों की गोली मारकर हत्या, तीन कैदियों को भी ले भागे हमलावर

 Edited By: Anil Kumar Shukla

Published on 18 Jul 2019 08:24 AM, Updated On 18 Jul 2019 08:24 AM

लखनऊ। बुधवार को प्रदेश में हुई दो बड़ी घटनाओं में दो पुलिसकर्मियों समेत कुल 11 लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी गई। पहली घटना सोनभद्र की है जहां दबंगों ने जमीन विवाद के बाद गोलियां चलाकर नौ लोगों को मौत के घाट उतार ​दिया जबकि दूसरा मामला सम्‍भल का है जहां घात लगाकर बैठे बदमाशों ने दो पुलिसकर्मियों की गोली मारकर हत्या कर दी और तीन कैदियों को छुड़ाकर रफूचक्कर हो गए। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने दोनों वारदात पर सख्‍त कार्रवाई के आदेश दिये हैं।

read more : कर्नाटक में कुमारस्वामी सरकार का फ्लोर टेस्ट आज, 15 विधायकों के गैरहाजिर रहने पर ऐसा होगा समीकरण... देखिए

सोनभद्र के घोरावल थाना क्षेत्र के उधा गांव में दो साल पहले ग्राम प्रधान यज्ञदत्त ने एक आईएएस अधिकारी से 90 बीघा जमीन खरीदी थी। यज्ञदत्त ने इस जमीन पर कब्जे के लिये बड़ी संख्‍या में अपने साथियों के साथ पहुंचकर ट्रैक्टरों से जमीन जोतने का प्रयास किया जिसका ग्रामीणों ने विरोध किया। इसके बाद ग्राम प्रधान पक्ष के लोगों ने स्‍थानीय ग्रामीणों पर गोलियां बरसा दी​। इस गोलीकांड में तीन महिलाओं समेत नौ लोगों की मौत हो गयी और 19 लोग घायल हुए।

घटना के बाद ग्राम प्रधान के भतीजों गिरिजेश और विमलेश को गिरफ्तार कर लिया गया है। बाकी आरोपियों की तलाश की जा रही है। पुलिस ने कहा कि जरूरत पड़ने पर जमीन बेचने वाले आईएएस अधिकारी के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

read more : भिलाई स्टील प्लांट के आनुधिकीकरण में हुई लेट लतीफी पर रामविचार नेताम का संसद में सवाल, क्या बोले इस्पात मंत्री?..देखिए


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घटना का संज्ञान लेते हुए मिर्जापुर के मण्डलायुक्त व वाराणसी जोन के अपर पुलिस महानिदेशक को घटना के कारणों की संयुक्त रूप से जांच करने के निर्देश दिये हैं। साथ ही लापरवाही सामने आने पर जिम्मेदारी तय करते हुए 24 घण्टे में रिपोर्ट पेश करने के आदेश दिये हैं। योगी ने इस घटना में मारे गये लोगों के परिजन को पांच-पांच लाख रुपये की सहायता का एलान किया है। उन्होंने जिलाधिकारी सोनभद्र को निर्देश दिए हैं कि वह बताएं कि ग्रामवासियों को पट्टे आखिर क्यों मुहैया नहीं कराए गए थे।

read more : ईडी की टीम नान घोटाले के मुख्य आरोपी शिवशंकर भट्ट से केंद्रीय जेल में करेगी पूछताछ


वहीं सम्भल जिले में कुछ कैदियों को लेकर मुरादाबाद जा रही एक वैन को अज्ञात बदमाशों ने बनियाठेर इलाके में जबरन रोक लिया और सुरक्षा में तैनात सिपाहियों हरेन्द्र और बृजपाल को गोली मार दी। इस वारदात में दोनों सिपाहियों की मौत हो गई। घटना को अंजाम देने के बाद बदमाश पुलिसकर्मियों की रायफल और तीन कैदियों को साथ लेकर भाग गए। मुरादाबाद की जेल से पेशी पर सम्भल जिले की चंदौसी स्थित अदालत लाये गये कुल 24 मुल्जिमों को वापस मुरादाबाद जेल ले जाया जा रहा था।

मुख्‍यमंत्री योगी ने इस वारदात में शहीद हुए दोनों पुलिसकर्मियों के परिजन को 50-50 लाख रुपये की सहायता और प्रत्येक शहीद पुलिसकर्मी की पत्नी को असाधारण पेंशन व परिवार के एक आश्रित को सरकारी नौकरी दिए जाने के भी आदेश दिए हैं

 

 

Web Title : Gunmen killed 11 people in two separate incidents, assaulted three prisoners

जरूर देखिये