सजायाफ्ता कैदी की जेल में मौत, परिजनों ने कलेक्ट्रेट के सामने लाश रखकर किया प्रदर्शन

Reported By: Shashikant Sharma, Edited By: Deepak Dilliwar

Published on 20 May 2019 11:35 PM, Updated On 21 May 2019 02:30 AM

खरगोन: बड़वानी सेंट्रल जेल में सजायाप्ता कैदी की मौत के बाद आक्रोषित परिजनों ने मृतक की लाश कलेक्टर कार्यालय के सामने रखकर प्रदर्शन किया। उन्होंने दो​षी अफसरों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।मामले की सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंचे खरगोन एसडीएम द्वारा जांच के आश्वासन के बाद परिजन लाश को ले जाने के लिए तैयार हुए।

Read More: इन चुनावों में भी एग्जिट पोल ने किए थे बड़े दावे, लेकिन जनादेश ने बदल थी दी बाजी

गौरतलब है कि खरगोन जिले के घुघरियाखेड़ी निवासी मृतक कैदी अफजल को हत्या के जुर्म में 20 साल की कैद हुई थी और वह करीब 6 साल से बड़वानी स्थित सेंट्रल जेल में बंद था। इसी दौरान अचानक तबीयत खराब होने के बाद सजायाप्ता कैदी अफजल की मौत हो गई। अफजल की मौत से आक्रोशित परिजनों ने बड़वानी जेल प्रषासन के अधिकारियों और गोगांवा के तत्कालीन टीआई एमपी वर्मा को मौत का जिम्मेदार मानते हुए कार्रवाई की मांग की है।

Read More: इन चुनावों में भी एग्जिट पोल ने किए थे बड़े दावे, लेकिन जनादेश ने बदल थी दी बाजी

मृतक कैदी अफजल की लाश को खरगोन स्थित कलेक्टर कार्यालय परिसर में लाने के बाद मृतक के बुजुर्ग पिता और पत्नी ने अन्य परिजनों ने जमकर प्रदर्शन करते हुए बडवानी जेल प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाए हैं। इस दौरान बुजुर्ग पिता तस्लिम शेख ने बड़वानी जेल के अधिकारियों पर आरोप लगाते हुए कहा है कि मेरे बच्चे को गोगांवा पुलिस द्वारा जबरन फंसाया गया। जेल में बंद मेरे बच्चे की हत्या की गई। जबकि उसेे कोई भी बीमारी नहीं थी। यदि वह बीमार था तो हमें सूचना भी नहीं दी और न ही उसका ईलाज कराया गया। बुजुर्ग ने गोगांवा के तत्कालीन टीआई एमपी वर्मा पर भी हत्या करवाने का आरोप लगाया।

Web Title : prisoner died in central jail badwani

जरूर देखिये