SIT गठन को चुनौती देने वाली याचिका पर जोरदार बहस,अमित जोगी के नाम वापस लेने पर सरकार ने जताई आपत्ति

 Edited By: Rupesh Sahu

Published on 10 Apr 2019 05:49 PM, Updated On 10 Apr 2019 05:49 PM

बिलासपुर । बिलासपुर हाईकोर्ट में डीजीपी डीएम अवस्थी की नियुक्ति और SIT गठन को चुनौती देने वाली याचिका पर जोरदार बहस हुई। लोरमी विधायक धरमजीत सिंह और अमित जोगी के द्वारा दायर की गई जनहित याचिका पर बुधवार को हाईकोर्ट चीफ जस्टिस के डिवीजन बैंच में सुनवाई हुई। इस मामले में हाईकोर्ट में याचिकाकर्ता और महाधिवक्ता के बीच जमकर बहस हुई। बहस में अमित जोगी के नाम वापस लेने के मामले में महाधिवक्ता ने आपत्ति दर्ज कराते हुए कहा कि अमित जोगी के द्वारा दायर इस जनहित याचिका पर जांच होनी चाहिए क्योंकि अमित जोगी अंतागढ़ टेपकांड मामले में आरोपी हैं और SIT की जांच जारी है।

ये भी पढ़ें- केजरीवाल ने पड़ोस में मोड़ा चुनावी मुद्दा, कहा - मोदी जीते तो होगी पाकिस्तान ...

राज्य शासन के द्वारा लगातार किये गए पुलिस अधिकारियों के तबादले के बारे में याचिकाकर्ता ने आवेदन लगाया है। इस पर राज्य पुलिस स्थापना बोर्ड , राज्य पुलिस कमीशन और राज्य एकाउंटब्लिटी कमीशन के गठन की अधिसूचना को फाइल किया गया है। याचिकाकर्ता के द्वारा इस पर आपत्ति दर्ज कराते हुए का गया कि इन कमीशन और कमेटी में 12 साल बाद भी स्वतंत्र सदस्य नियुक्त नहीं हुआ है। इन समितियों से ट्रांसफर और पोस्टिंग के अधिकार पर राज्य शासन ने अतिक्रमण कर लिया गया है। याचिका में अधिकारियों के तबादले से संबंधित दस्तावेज पेश करने की याचिकाकर्ता ने मांग की है । मामले की अगली सुनवाई 4 सप्ताह के बाद होगी।

Web Title : Strong debate on the petition challenging the formation of SIT Government expresses objection to withdrawing Amit Jogi's name

जरूर देखिये