आत्मसमर्पित नक्सली जोड़े की शादी में पुलिस वाले बने बाराती, हाथों में बंदूक की जगह मेहंदी

Reported By: Raja Rathore, Edited By: Deepak Dilliwar

Published on 22 Jul 2019 04:34 PM, Updated On 22 Jul 2019 04:34 PM

सुकमा: छत्तीसगढ़ के वनांचल क्षेत्र बस्तर में यूं तो पुलिस जवान और नक्सली एक दूसरे के जान के दुश्मन माने जाते हैं। लेकिन हम आपको पुलिस की अनोखी पहल के बारे में बताने जा रहे हैं। दरअसल सुकमा जिले के मरईगुड़ा थाने में पुलिसकर्मियों ने आत्मसमर्पित नक्सली जोड़े की शादी करवाई है। पुलिस की मदद से अब ये दोनों परिणय सूत्र में बंध गए हैं। गौर करने वाली बात यह है कि थाने के सिपाही और अन्य कर्मचारी घराती भी बने और बाराती भी। अब इस शादी की चर्चा पूरे इलाके में हो रही है।

Read More: रक्तदान शिविर में मच गया हड़कंप, जब SDM और BEO ही भिड़ गए आपस में, जानिए क्या है माजरा

मिली जानकारी के अनुसार माड़वी माड़ा एंव वेट्टी देवे ने साल 2018 में नक्सलियों की दमनकारी नीतियों से तंग आकर आतंक का रास्ता छोड़ दिया था। दोनों मुख्यधारा में लौटने के बाद आम लोगों की तरह ही गुजर बसर कर रहे थे। इसी दौरान उन्होंने शादी करने की ठान ली। शादी के बात दोनों ने पुलिस से साझा किया। दोनों की मंशा जानकर मरईगुड़ा थाने के पुलिसकर्मियों ने माड़वी माड़ा एंव वेट्टी की शादी करवाने की जिम्मेदारी ली और थाना परिसर में स्थित मंदिर में माड़वी माड़ा एंव वेट्टी की शादी करवाई।

Read More: चंद्रयान-2 की सफल उड़ान पर सीएम कमलनाथ और भूपेश बघेल ने किया ट्वीट, इसरो के वैज्ञानिकों को दी बधाई

पहले भी हो चुकी है ऐसी अनोखाी शादी
गौरतलब है कि ऐसी अनोखाी शादी बस्तर में पहली बार नहीं हो रही है। इससे पहले भी बस्तर के दरभा इलाके के दरभा क्षेत्र की निवासी कोसी मरकाम और बीजापुर जिले के पोडियामी लक्ष्मण के विवाह किय था। दोनों की शादी 16 जनवरी 2016 को धूमधाम से कराई गई थी।

Read More: चंद्रयान 2 सफलता पूर्वक लॉन्च, जानिए कितना अलग है चंद्रयान 1 से, क्या होगा इसका काम?

Web Title : Surrender naxal got wedding in police station

जरूर देखिये