सरकारी बैंकों में कैश का टोटा, किसानों को घंटों की मशक्कत के बाद मिल रहे 2 -5 हजार

Reported By: Amitabh Bhattacharya, Edited By: Renu Nandi

Published on 08 Feb 2019 01:55 PM, Updated On 08 Feb 2019 02:26 PM

पखांजूर।छत्तीसगढ़ सरकार ने किसानों का कर्ज माफ़ तो कर दिया है लेकिन उन्हें जिला सहकारी बैंक से पैसे निकलने में भारी मशक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। गौरतलब है कि किसान धान और मक्के की फसल धान उपार्जन केंद्रों में बिक्री करने के बाद रुपये लेने जब जिला सहकारी बैंक पहुंचते है।तो भारी भीड़ होने के कारण लंबी लाइन में लगते है और जब किसान की बारी आती है तब तक बैंक बन्द करने का समय हो जाता है। कई किसाने ने बताया कि दिनभर लम्बी लाइन में अपनी बारी का इंतजार करते है।और जब लाइन खत्म होने के बाद अपना बारी आता है। तो बैंक बन्द होने का समय हो जाता है।

ये भी पढ़ें -जमानत के आभाव में सजा काट रहे कैदियों की जानकारी देने हाईकोर्ट ने दिया निर्देश   

कई किसान रुपये निकालने पिछले सप्ताह भर से से जिला सहकारी बैंक का चक्कर काट रहे है।लेकिन रुपये नही मिल रहा है, वहीं किसानो को पांच हजार रूप्ये लिमीट के अनूसार शाम को पांच हजार रूपए भुगतान किया जा रहा हैं जबकी किसानो को अधिक रकम की आवश्यकता है।बैंक में लाइन लगने से निजात पाने एटीएम सुविधा तो है लेकिन वह भी बन्द पड़ी हुई है।जिससे बैंक के अलावा एटीएम से भी किसान रुपये नही निकाल पा रहे है।वहीं कर्ज माफी से थोड़ी राहत तो जरूर किसानो को मिली है लेकिन बाकी के अन्य खर्चे की भरपाई करने का संकट किसानों पर मंडरा रहा है।वहीं बैंक में कर्मचारियो की कमी का दंस किसान उपभोक्ताओं के अलावा बैंक के अन्य कर्मचारियो को उठाना पड़ रहा है।इस मामले में जब जिला सहकारी बैंक पखांजुर के प्रबंधक से बात की गई तो उनका कहना था कि इस विषय पर उच्च अधिकारियो को अवगत कराया गया है।आरबीआई से स्टेट बैंक को राशि नही मिलने के वजह से हमारे शाखा को राशि कम मिल रही है जिससे हम किसानो को कम राशि दे रहे है।

 

Web Title : trouble meant for farmers to withdraw money from banks

जरूर देखिये