किसानों के ‘रेल रोको’ आंदोलन का असर रेल यातायात पर, कई ट्रेनें रद्द

किसानों के 'रेल रोको' आंदोलन का असर रेल यातायात पर, कई ट्रेनें रद्द

Edited By: , October 18, 2021 / 04:38 PM IST

जयपुर, 18 अक्टूबर (भाषा) संयुक्त किसान मोर्चा के ‘रेल रोको’ आंदोलन का असर सोमवार को राजस्थान एवं हरियाणा में उत्तर पश्चिम रेलवे के अधीन आने वाले कुछ खंडों में रेलों के आवागमन पर भी पड़ा। इसके कारण 18 ट्रेन रद्द करनी पड़ी तो 10 को आंशिक रूप से रद्द किया गया।

संयुक्त किसान मोर्चा ने उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के संबंध में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा को बर्खास्त करने तथा आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर छह घंटे के ‘रेल रोको’ आंदोलन की घोषणा की है।

किसानों ने हनुमानगढ़ में रेलवे ट्रेक पर प्रदर्शन किया और केंद्र व उत्तर प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। वहीं जयपुर में मोर्चे के सदस्यों ने जयपुर जंक्शन के बाहर प्रदश्रन किया। उन्हें जंक्शन के भीतर जाने की अनुमति नहीं दी गई।

मोर्चे के राज्य संयुक्त सचिव संजय माधव ने कहा,’ हमें जयपुर जंक्शन में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी गई इसलिए हमने प्रवेश द्वार पर ही धरना दिया।’ आंदोलन के कारण राजस्थान के हनुमानगढ़ व गंगानगर जिले में रेल यातायात प्रभावित हुआ है।

उत्तर पश्चिम रेलवे के मुख्य जन सम्पर्क अधिकारी कैप्टन शशि किरण के अनुसार किसान आंदोलन के चलते भिवानी-रेवाड़ी, सिरसा-रेवाड़ी, लोहारू-हिसार, सूरतगढ़-बठिंडा, सिरसा-बठिंडा हनुमानगढ़-बठिंडा, रोहतक-भिवानी, रेवाड़ी-सादुलपुर, हिसार-बठिंडा, हनुमानगढ़-सादुलपुर तथा श्रीगंगानगर- रेवाड़ी रेलखंडों के बीच रेल यातायात प्रभावित हुआ है।

उन्होंने बताया कि आंदोलन के कारण बठिण्डा-रेवाडी स्पेशल रेलसेवा, सिरसा-लुधियाना स्पेशल रेलसेवा, फिरोजपुर-हनुमानगढ स्पेशल रेलसेवा व लुधियाना-हिसार स्पेशल रेलसेवा सहित 18 ट्रेनों को सोमवार को रद्द कर दिया गया। वहीं कम से कम 10 ट्रेनों को आंशिक रूप से रद्द किया गया है। जबकि कुछ ट्रेनों को मार्ग बदलकर चलाया जा रहा है।

भाषा पृथ्वी पृथ्वी रंजन

रंजन