Mangatram Arora Murder Mystery in Rajasthan Alwar

Murder Mystery: गोदाम के एक कोने में इस हालत में मिली लाश, पुलिस देखकर रह गई हैरान

Mangatram Arora Murder Mystery : पुलिस की लाख कोशिश के बावजूद अपराधिक घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं। लगातार आपराधिक घटनाएं घट रही हैं।

Edited By: , August 17, 2022 / 09:43 PM IST

पुलिस की लाख कोशिश के बावजूद अपराधिक घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं। लगातार आपराधिक घटनाएं घट रही हैं। पुलिस लगातार लोगों को जागरूक कर रही है। इसके बावजूद क्राइम थमने का नाम नहीं ले रहा है। अब नया मामला राजस्थान के अलवर है।

राजस्थान का एक कारोबारी अपने बिजनेस के सिलसिले में अलवर जाता है और वहां जाकर अचानक वो गायब हो जाता है। पुलिस ने मामले की तफ्तीश शुरू की। उस कारोबारी को हर मुमकिन जगह तलाश किया। लेकिन उसका कोई सुराग नहीं मिला। हालांकि कई बार जांच करने पर भी उसकी आखरी मोबाइल लोकेशन अलवर ही आ रही थी। अब सवाल ये था कि उसे अलवर की जमीन खा गई या आसमान निगल गया? और जब इस बात का जवाब मिला तो सब हैरान रह गए।

Read more :  एम्यूजमेंट पार्क में झूले पर खुलेआम सेक्स करने लगा ये कपल, देखकर शरमा गए बच्चे, पुलिस ने दबोचा 

शहर में दिल्ली रोड पर मौजूद स्क्रैप के एक गोदाम पर अचानक पुलिस ने रेड की। फिर पुलिस की निगरानी में गोदाम के एक कोने में खुदाई का काम शुरू किया गया। पुलिस की मौजूदगी ही ये बताने के लिए काफी थी कि ये खुदाई किसी मामूली वजह से नहीं हो रही है, बल्कि वहां पुलिस को किसी गहरी साज़िश का अंदेशा था और जो अंदेशा था। करीब घंटे भर की खुदाई के बाद वही हुआ। गोदाम के उस कोने से देर तक खुदाई की बाद तमीन में दफन एक शख्स की सड़ी गली लाश बरामद होती है। लाश बेशक अभी बरामद हुई हो, लेकिन उस लाश की पहचान पुलिस पहले ही कर चुकी थी।

Read more : शिक्षा विभाग के वाट्सएप ग्रुप में डाल दिया पोर्न वीडियो, मचा हड़कंप, फिर महिला टीचर्स ने दिए ऐसे रिएक्शन 

मृतक का नाम मंगतराम अरोड़ा

गहरी खुदाई से जिस शख्स की लाश मिली, उस मरने वाले शख्स का नाम मंगतराम अरोड़ा था, जिनकी उम्र करीब 50 साल थी और वो राजस्थान के अलवर के रहनेवाले थे। राजस्थान के रहनेवाले मेटल कारोबारी मंगतराम अरोड़ा का अक्सर अपने कारोबार के सिलसिले में आस-पास के शहरों में आना-जाना लगा रहता था। बुधवार यानी दस अगस्त को भी वो अपने काम के सिलसिले में अपने घर से रेवाड़ी के लिए निकले थे। असल में रेवाड़ी के रहेनवाले एक दूसरे स्क्रैप कारोबारी अंकित भालिया से उन्हें 35 लाख रुपये लेने थे और इन्हीं 35 लाख की वसूली के लिए वो उस रोज़ सुबह-सुबह अपनी बाइक से रेवाड़ी के लिए चले थे। उन्होंने घरवालों से भी इस बात का जिक्र किया था।

हैरानी की बात ये रही कि अपने घर से निकलने के कुछ ही देर बाद ही वो बेहद रहस्यमयी तरीके से गायब हो गए। अब उनका मोबाइल फोन भी स्विच्ड ऑफ हो चुका था। ऐसे में घरवालों का परेशान होना लाज़िमी था। जब देर तक इंतजार करने के बावजूद मंगतराम का कोई पता नहीं चला तो उनके घरवाले रेवाडी पहुंचे। इसके बाद उन्होंने ना सिर्फ उस कारोबारी से बात की, जिनसे मंगतराम मिलने पहुंचे थे, बल्कि उन्होंने पुलिस से भी शिकायत की। खिलाफ एक और सबूत हाथ लग चुका था।

Read more :  नारायण चंदेल को नेता प्रतिपक्ष बनाए जाने पर धरमलाल कौशिक ने दिया ये बड़ा बयान, कहा- मैंने तो पहले ही…

और भी है बड़ी खबरें…