959 छात्रों ने हर सवाल में की एक जैसी गलती, ऐसे सामने आई चतुराई से की गई सामूहिक नकल

 Edited By: Rupesh Sahu

Published on 16 Jul 2019 07:55 PM, Updated On 16 Jul 2019 07:55 PM

गुजरात। प्रदेश में सेकंडरी एंड हायर सेकंडरी एजुकेशन बोर्ड यानि GSHSEB के अधिकारियों की निगाह में सामूहिक नकल का एक मामला आया है। सामूहिक नकल का ये मामला 12वीं की परीक्षा में हुआ है। इस परीक्षा में 959 छात्रों के सामूहिक नकल का साक्ष्य मिला है। गुजरात के एजुकेशन बोर्ड में इसे अब तक का सामूहिक नकल का सबसे बड़ा मामला माना जा रहा है।

ये भी पढ़ें- ट्रांसजेंडर्स को सरकार ने दी बड़ी राहत, उनका ये कृत्य अब नहीं माना ...

सामूहिक नकल का ये मामला तब प्रकाश में आया जब सभी 959 परीक्षार्थियों ने हर सवाल का एक ही तरीके से जवाब लिखा था। सबी विद्यार्थियों के उत्तर का क्रम भी एक ही था। वहीं, परीक्षार्थियों ने एक जैसी ही गलती की थी। सामहिक नकल का प्रकरण सामने आने के बाद गुजरात बोर्ड ने परीक्षार्थियों के परिणाम पर पर रोक लगा दी है।

ये भी पढ़ें-यूपी में कांग्रेस के प्रदर्शन से नाराज प्रियंका गांधी वाड्रा करेंगी...

जिन विषयों में कथित तौर पर सामूहिक नकल की बात सामने आई है, उनमें सभी 959 बच्चों को अनुत्तीर्ण घोषित किया गया है। इस संबंध में लंबे समय से शिकायतें मिल रहीं थीं, जिसके आधार पर बोर्ड अधिकारियों ने कार्रवाई की। जांच अधिकारियों ने कई परीक्षा केंद्रो की उत्तर पुस्तिकाएं जांचीं। ये परीक्षा केंद्र मुख्य रूप से जूनागढ़ और गिर और सोमनाथ जिलों के हैं।

ये भी पढ़ें- आज होगा सबसे लंबा चंद्रग्रहण, बंद रहेंगे मंदिरों के कपाट..देखिए

सामूहिक नकल प्रकरण में सभी 959 परीक्षार्थियों ने एक सवाल का जवाब बिल्कुल एक जैसा ही लिखा था। सभी ने एक जैसी ही गलती भी की थी। जानकारी के मुताबिक इन सेंटरों पर 200 विद्यार्थियों ने एक निबंध- ‘बेटी परिवार का चिराग है’ को एक ही तरह से शुरू से लेकर अंत तक लिखा। जिन विषयों में सामूहिक नकल के मामले सामने आए हैं, उनमें अकाउंटिंग, इकनॉमिक्स, अंग्रेजी साहित्य और स्टैटिस्टिक्स शामिल हैं।

ये भी पढ़ें- धोनी का नहीं सानी, चोटिल अंगूठे के साथ कर रहे थे बैटिंग- कीपरिंग, स...

सेकंडरी एंड हायर सेकंडरी एजुकेशन बोर्ड के एक अधिकारी का कहना है, बोर्ड अब अमरापुर (गिर-सोमनाथ), विसानवेल (जूनागढ़) और प्राची-पिपला (गिर-सोमनाथ) में 12वीं की परीक्षा के संपूर्ण केंद्र की परीक्षा रद्द करने की तैयारी कर रहा है। जांच के दौरान कुछ छात्रों ने माना है कि परीक्षा केंद्रों पर शिक्षकों ने उन्हें बोलते हुए उत्तर लिखवाए हैं। जिन परीक्षा केंद्रों पर सामूहिक नकल के मामले सामने आए हैं। वहां बोटाड, सुरेंद्रनगर, राजकोट और अहमदाबाद के छात्रों ने सेल्फ फाइनेंस स्कूल के बाहरी छात्रों के रूप में अपना एनरोलमेंट कराया था।

Web Title : 959 students have made the same mistake in every question A cleverly copied copy

जरूर देखिये