सुरक्षाबलों की गोली से आदिवासी महिला की मौत, IBC24 की ग्राउंड रिपोर्ट

Reported By: Vishnu Pratap Singh, Edited By: Renu Nandi

Published on 04 Feb 2019 02:15 PM, Updated On 04 Feb 2019 02:19 PM

सुकमा। जिले के गोडेलगुड़ा मे सुरक्षाबलों की गोली से आदिवासी महिला की मौत के मामले पर सुकमा एसपी जितेंद्र ने स्वीकारा है कि सीआरपीएफ़ की टीम सर्चिंग पर थी और नक्सलियो से मुठभेड़ में क्रॉस फ़ायरिंग में गोडेलगुड़ा गाँव की महिला को गोली लग गई थी जिसके बाद उक्त महिला की मौत हो गई थी।
ये भी पढ़ें -अंतागढ़ मामले में मंतूराम पवार का बड़ा बयान, किरणमयी नायक के ख़िलाफ़ दर्ज कराएंगे रिपोर्ट

इस मामले में एसपी ने कहा है की पुलिस पूरे मामले की जाँच कर रही है और पीड़ितों के परिवार को हर सम्भव मदद दिया जायेगा। वही पुरे मामले पर IBC24 की टीम ग्राउंड पर पहुंची और मामले को बारीकी से देखा। इस दौरान गोडेलगुड़ा गाँव के ग्रामीणों ने पुलिस पर कई गंभीर आरोप भी लगाए हैं। ग्रामीणों के मुताबिक़ लकड़ी तोड़ने महिलाएँ गाँव के पास के तालाब से लगे जंगल में गई हुई थी।

ये भी पढ़ें -स्मृति ईरानी ने कहा जिस दिन 'प्रधान सेवक' राजनीति से सन्यास लेंगे, राजनीति छोड़ दूंगी


जिन्हें सीआरपीएफ़ जवानों ने गोली मार दिया ग्रामीणों का आरोप है की गोली लगने से घायल महिला को जवानों ने कुछ दूर ले जाकर नक्सली वर्दी पहनाने की कोशिश की पर पीछे से गाँव की महिलाएँ पहुँच गई जिससे वर्दी पहनाएँ बीना ही मृतक महिला को घायल अवस्था मे ले जाया गया है। ग्रामीणों का यह बजी आरोप है की घटना स्थल पर गोली लगने के बाद दुबारा जवान पहुँचे और मिट्टी पर पड़े खुन के धब्बे व मिट्टी को अपने साथ ले गए। जबकी घटनास्थल पर आज भी लकड़ी काटने के औज़ार पड़े हूए है। आपको बता दें की मृतक के चार बच्चे भी है जिसमें एक दुधमुहा बच्चा है। वहीं पूरे मामले पर सीआरपीएफ़ जवानों ने खंडन किया है।

Web Title : Tribal woman's death by pillar of security forces, Ground report of IBC24

जरूर देखिये