मप्र में मंत्री के बेटे के खिलाफ दंपति से मारपीट के आरोप में मामला दर्ज, चार पुलिसकर्मी निलंबित |

मप्र में मंत्री के बेटे के खिलाफ दंपति से मारपीट के आरोप में मामला दर्ज, चार पुलिसकर्मी निलंबित

मप्र में मंत्री के बेटे के खिलाफ दंपति से मारपीट के आरोप में मामला दर्ज, चार पुलिसकर्मी निलंबित

:   Modified Date:  March 31, 2024 / 08:10 PM IST, Published Date : March 31, 2024/8:10 pm IST

भोपाल, 31 मार्च (भाषा) मध्य प्रदेश के एक मंत्री के बेटे के खिलाफ रेस्तरां मालिक और उसकी पत्नी से मारपीट करने के आरोप में मामला दर्ज किया गया है। एक अधिकारी ने रविवार को यह जानकारी दी।

इसी मामले में आरोपी अभिज्ञान पटेल ने आरोप लगाया कि पुलिकर्मियों ने उसके और उसके दोस्तों के साथ मारपीट की गई जिसके बाद चार पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया।

अभिज्ञान (30) मध्य प्रदेश के स्वास्थ्य राज्य मंत्री नरेंद्र शिवाजी पटेल के बेटे हैं। मंत्री नरेंद्र शिवाजी पटेल से उनके सरकारी जनसंपर्क अधिकारी अंकुश मिश्रा के जरिए संपर्क करने की कोशिश की गई लेकिन मंत्री से संपर्क नहीं हो सका।

पुलिस के अनुसार शनिवार रात करीब आठ बजे अभिज्ञान चार पहिया वाहन में था और उसका त्रिलंगा क्रांसिग में दोपहिया सवार पत्रकार से कोई विवाद हुआ।

अधिकारी ने मंत्री के बेटे के खिलाफ प्राथमिकी का हवाला देते हुए बताया कि मंत्री के बेटे ने कथित तौर पर पत्रकार के साथ मारपीट की, जिसके बाद पास के एक रेस्तरां के मालिक और उनकी पत्नी ने बीच-बचाव किया, इसके बाद अभिज्ञान ने कथित तौर पर उनके साथ भी मारपीट की।

शिकायत के मुताबिक जब पीड़ित शिकायत दर्ज कराने शाहपुरा थाने पहुंचे तो अभिज्ञान और उसके दोस्त वहां भी पहुंच गए और उन्होंने वहां कथित तौर पर हंगामा किया।

अधिकारी ने बताया कि जब वे दंपति और पत्रकार को मेडिकल जांच के लिए भेज रहे थे तो अभिज्ञान ने कथित तौर पर पुलिस के साथ दुर्व्यवहार भी किया जिसके बाद मंत्री के बेटे और पुलिस के बीच तीखी बहस हुई।

भोपाल (नगर जोन एक) की पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) प्रियंका शुक्ला ने बताया कि पुलिस ने अभिज्ञान के खिलाफ संबंधित धाराओं में मामला दर्ज किया है।

डीसीपी प्रियंका शुक्ला ने कहा कि अभिज्ञान की जवाबी शिकायत पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने रेस्तरां मालिक और एक अन्य व्यक्ति को भी आरोपित किया है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि अभिज्ञान और उसके दोस्तों ने पुलिसकर्मियों पर मारपीट के आरोप लगाए जिसके बाद चार पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया।

उन्होंने कहा,‘‘ पुलिसकर्मियों के आचरण की जांच के आदेश दिए गए हैं।’’

यह पूछे जाने पर कि उन्होंने पत्रकार की शिकायत क्यों नहीं दर्ज की इस पर डीसीपी शुक्ला ने कहा, ‘‘यह पूरी एक घटना है इसीलिए मंत्री के बेटे के खिलाफ एक प्राथमिकी दर्ज की गई है।’’

रविवार को मामले ने राजनीतिक रंग ले लिया।

कांग्रेस की मध्य प्रदेश इकाई के प्रमुख जीतू पटवारी ने मांग की कि अभिज्ञान के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया जाए और उन्होंने पत्रकार की शिकायत पर उसके खिलाफ एक अलग मामला दर्ज नहीं करने के लिए पुलिस की आलोचना की।

उन्होंने कहा,‘‘ हम पत्रकार को वकील उपलब्ध कराएंगे ताकि मंत्री के बेटे के खिलाफ अदालत में मामला दर्ज करने में मदद मिले।’’

उन्होंने कहा,‘‘मैंने वरिष्ठ पुलिस अधिकारी से बात की है और ‘एक्स’ के माध्यम से मुख्यमंत्री मोहन यादव को मामले से अवगत कराया है।’’

भाषा शोभना धीरज

धीरज

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers