मुख्यमंत्री ने एसपी कॉन्फ्रेंस में की चिटफंड कंपनियों के मामलों की समीक्षा, दिए ये निर्देश

 Edited By: Sanjeet Tripathi

Published on 06 Jun 2019 08:14 PM, Updated On 06 Jun 2019 08:14 PM

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में करीब पौने पांच घंटे चली कलेक्टर्स कॉन्फ्रेंस के बाद अब एसपी कान्फ्रेंस शुरू हो चुकी है। इस दौरान गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू, मुख्य सचिव, डीजीपी, सभी रेंज के पुलिस महानिरीक्षक, संभागायुक्त, कलेक्टर्स और एसपी मौजूद हैं। कॉन्फ्रेंस की शुरुआत में मुख्यमंत्री ने चिटफंड कंपनियों के मामलों की समीक्षा की

इस दौरान चिटफंड कंपनियों की संपत्ति कुर्की के लिए कलेक्टर के समक्ष अंतरिम आदेश के लिए लंबित 44 प्रकरणों पर गंभीरता से इस महीने के अंत तक कार्रवाई करने कलेक्टर्स को निर्देश दिए गए। यह जानकारी दी गई कि चिटफंड कंपनियों पर कार्रवाई से प्रदेश में इनकी गतिविधियों पर लगाम लगी है। मुख्यमंत्री ने प्रदेश में माइक्रो फाइनेंस का कार्य करने वाली संस्थाओ की पूरी जानकारी रखने कलेक्टर एसपी को निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़ें : छत्तीसगढ़ी फिल्म कलाकारों ने की संस्कृति मंत्री से मुलाकात 

मुख्यमंत्री ने चिटफंड और माइक्रो फाइनेंस कंपनियों द्वारा आम जनता ठगी का शिकार न हों, इसके लिए पुलिस अधीक्षक और पुलिस के हर स्तर के अधिकारी को पूरी सतर्कता बरतने के निर्देश दिए। सीएम भूपेश ने कोरिया में माइक्रो फाइनेंस कंपनी की गतिविधि पाए जाने की जानकारी मिलने पर नाराजगी जताई।इस दौरान अधिकारियों ने बताया कि बलौदाबाजार जिले में चिटफंड कंपनी एसयूएस की 35 लाख रुपए की संपत्ति कुर्की की कार्रवाई की गई है।

यह भी पढ़ें : बीजेपी विधायक के बिगड़े बोल, सरकारी कर्मचारियों को जूते से पीटने को कहा, देखिए वीडियो 

कॉन्फ्रेंस में मुख्यमंत्री बघेल ने बेसिक पुलिसिंग को मजबूत करने, कानून-व्यवस्था बिगड़ने की स्थिति निर्मित होने पर त्वरित रिस्पांस कर स्थिति पर नियंत्रण के निर्देश दिए। उन्होंने महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा के लिए थाना प्रभारियों और आरक्षकों को संवेदनशील बनाने की हिदायत दी।

Web Title : Chief Minister reviewed cases of chitfund companies in SP conference

जरूर देखिये