दिव्यांगजन अब आसानी से करेंगे अपने मताधिकार का उपयोग, 'मतदान केंद्रों में किए जाएंगे बेहतर इंतजाम'

 Edited By: Vivek Mishra

Published on 15 Mar 2019 08:51 AM, Updated On 15 Mar 2019 08:48 AM

भोपाल। लोकसभा चुनाव में दिव्यांगजन अपने मताधिकार का आसनी से उपयोग कर सके इसके लिए राज्य स्तरीय कार्यशाला का आयोजन किया। इस दौरान मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी व्ही.एल. कान्ता राव ने कहा कि पिछले चुनाव में 3 लाख 50 हजार दिव्यांगजन के लिये क्यूजम्प, वालंटियर एवं वाहनों का इंतजाम किया गया। उन्होंने कहा कि पिछले चुनाव से और बेहतर कार्य इस लोकसभा चुनाव में करके दिखाना है।

ये भी पढ़ें:बसपा आज जारी कर सकती है प्रत्याशियों की पहली लिस्ट, नए नामों पर भी चर्चा

इसके साथ मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने कहा कि इस बार दिव्यांगजन का मतदान प्रतिशत 75 प्रतिशत कराने का प्रयास किया जायेगा। चुनाव प्रक्रिया से छूटे लोगों विशेषकर दिव्यांगजन के लिए गैर सरकारी संगठनों ने भी भरपूर सहयोग किया। इसके साथ उन्होंने ये भी कहा कि सबके सहयोग से विधानसभा निर्वाचन 2018 में दिव्यांगजन द्वारा 61 प्रतिशत मतदान संभव हो सका है। और ये मतदान प्रतिशत देश के अन्य राज्यों से काफी बेहतर है।

ये भी पढ़ें:सीईओ कार्यालय के फेसबुक पेज पर सीधा संवाद, मतदाताओं के सवालों का मिलेगा जवाब

वहीं भारत निर्वाचन आयोग के सचिव आनंद कुमार पाठक ने कहा कि 'मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव 2018 में सबसे बेहतर कार्य किये गए। आयोग के निर्देशों का पालन तीव्र गति से किया गया'। शासकीय अधिकारियों-कर्मचारियों के साथ NGO एवं अन्य लोगों ने भी मतदान कराने में सहभागिता की निभाई। इस कार्यशाला में दिव्यांगजन के सुगम मतदान के लिए नियुक्त जिला समन्वयक एवं जिला स्तर पर दिव्यांगजन के क्षेत्रों में कार्य करने वाले निजी संस्थान के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

Web Title : DivyaJangan will now easily use his right to vote, Better arrangements will be made in polling booths

जरूर देखिये