नया रायपुर जमीन आबंटन मामले में नया मोड़, पूर्व CS ने कहा- आबंटन मैंने किया तो बजाज का निलंबन कैसे?

 Edited By: Deepak Dilliwar

Published on 16 Aug 2019 11:54 PM, Updated On 16 Aug 2019 11:39 PM

रायपुर: सोनिया गांधी की शिलान्यास वाली नया रायपुर की जमीन के मामले में नया मोड़ आ गया है। दरअसल पूर्व चीफ सेक्रेटरी पी जॉय उम्मेन ने छत्तीसगढ़ सरकार को पत्र लिखकर आईएफएस एसएस बजाज के निलंबन पर सवाल खड़े किए हैं। उम्मेन का कहना है कि जमीन का आबंटन मैने किया था तो निलंबन बजाज का कैसे? वहीं, उन्होंने अपने पत्र में यह भी कहा है कि शिलान्यास वाली जमीन का आबंटन गलत नहीं है।

Read More: पुलिस भी रह गई दंग, जब विधायक के घर छापेमार कार्रवाई के दौरान मिला AK47 और जिंदा कारतूस

पी जॉय उम्मेन ने सरकार को लिखे अपने पत्र में कहा है कि शिलान्यास वाली जमीन का आबंटन मैने किया है, न कि एसएस बजाज ने। एसएस बजाज को सस्पेंड करना गलत है। जमीन का आबंटन नियमों के अनुसार किया गया है, आबंटन में कोई गलती नहीं की गई है।

Read More: मंत्री लखन घनघोरिया का विवादित बयान, कहा- कैलाश सारंग के बेटे हैं विधायक विश्वास सारंग, सबूत दें

गौरतलब है कि सरकार का कहना है कि 2003 में सोनिया गांधी ने जिस जमीन पर नया रायपुर के लिए शिलान्यास किया था, उसी जगह को एसएस बजाज ने अपने कार्यकाल के दौरान किसी अन्य को आबंटन कर दिया है। वहीं, गोल्फकोर्स की ज़मीन को कोड़ियों के मोल प्राइवेट बिल्डर को दे दिया गया है। बजाज पर आरोप है कि उन्होंने अपने पद का दुरुपयोग करते हुए नियमों को ताक में रखकर नया रायपुर की जमीनों का आबंटन किया है।

Read More: पीएफ फंड पर होने वाला है यह बड़ा फैसला, कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर

Web Title : Former CS p joy oommen Wrote latter to Chhattisgarh Government on Naya Raipur land distribution case

जरूर देखिये