टैक्स चोरों के स्वर्ग में टॉप 20 में भारत, बड़े नामों ने फिर मचाई खलबची

Reported By: Aman Verma, Edited By: Aman Verma

Published on 06 Nov 2017 07:12 PM, Updated On 06 Nov 2017 07:12 PM

विदेशों में जमा भारतीयों के काले धन का मुद्दा एक बार फिर गरमा गया है। ये मुद्दा 2014 के आम चुनाव में भी अहम मुद्दा था, जिसे लेकर बार-बार ये कहा गया था कि जिन देशों में टैक्स नहीं या काफी कम है, वहां के खातों में भारत के टैक्स चोरों ने इतना कालाधन जमा कर रखा है, जिसे वापस लाने पर हर किसी के खाते में 15-15 लाख रुपये जमा हो जाएंगे। अभी तक वो कालाधन तो वापस नहीं लाया जा सका है, लेकिन और अधिक कालेधन के स्रोतों का खुलासा ज़रूर होता रहा है। पहले पनामा पेपर्स और अब पैराडाइज़ पेपर्स के खुलासों से भारत समेत दुनिया भर में खलबली मची हुई है। 

ऐसा क्या बोल गए नरेंद्र मोदी की भावुक हो गए उनके गुरू ?

पैराडाइज़ पेपर्स नाम के खुलासे में कुल 1.34 करोड़ फाइलें सामने आई हैं। कुल 19 टैक्स हेवन माने जाने वाले देशों से जुटाई गई जानकारियों में मुख्य भूमिका इंटरनेशनल कंसोर्टियम ऑफ इंवेस्टिगेटिव जर्नलिस्ट ने निभाई है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इस रिपोर्ट में 180 देशों के लोगों के नाम शामिल हैं और इनमें भारत 19वें नंबर यानी टॉप 20 में शुमार है। भारत के 714 लोगों के नाम इस लिस्ट में शामिल हैं और बताया जा रहा है कि अभी 40 रिपोर्ट आनी बाकी ही है तो अंदाजा लगाया जा सकता है कि कितनी बड़ी संख्या में लोगों ने कालेधन को देश से बाहर जमा कर रखा है।

Web Title : India in the Top 20 in Tax Thieves Paradise, Big Names Shed Again

जरूर देखिये