आखिर इस बैठक का क्या मतलब? बीजेपी ने आंदोलन की दी चेतावनी

Reported By: Pushpendra Chaturvedi, Edited By: Vivek Mishra

Published on 22 Apr 2019 10:16 AM, Updated On 22 Apr 2019 10:16 AM

शहडोल। शहडोल कलेक्ट्रेट में प्रभारी मंत्रियों और कलेक्टर की हुई गुपचुप बैठक के बाद बवाल मच गया है। भाजपा ने पूरे मामले की शिकायत रिटर्निंग अधिकारी चंद्रमोहन ठाकुर के माध्यम से निर्वाचन आयोग से की है। और शहडोल कलेक्टर को जल्द से जल्द हटाने की मांग की है।

ये भी पढ़ें: सातवें चरण की 59 सीटों पर नामांकन आज से शुरू, 29 अप्रैल तक प्रत्याशी जमा कर सकते हैं 

भाजपा ने कलेक्टर और प्रभारी मंत्री पर चुनाव को प्रभावित करने का आरोप लगाया है। दरअसल जानकारी के मुताबिक 20 अप्रैल को मध्य प्रदेश शासन के जनजाति मंत्री ओमकार सिंह मरकाम ने देर रात कलेक्टर ललित दाहिमा के साथ गुपचुप बैठक की,जिसकी भनक बीजेपी को लग गई।

ये भी पढ़ें: सीरियल बम धमाकों में मरने वालों का आंकड़ा पहुंचा 215, 10 दिनों तक हाई अलर्ट पर 

जिसके बाद बीजेपी ने इसे आचार संहिता का उल्लंघन बताते हुए मामले की शिकायत कर दी है। साथ ही कलेक्टर को कांग्रेस का ऐजेंट बताते हुए चुनाव प्रभावित करने का आरोप लगाया है। इसके साथ ही बीजेपी ने कलेक्टर ललित दाहिमा को तत्काल नहीं हटाने पर आंदोलन की चेतावनी दी है।

 

Web Title : What does this meeting mean? BJP warns of agitation

जरूर देखिये